भारत के प्रथम राष्ट्रपति कौन थे?

आज़ादी के बाद भारत में कई राष्ट्रपति हुए हैं लेकिन क्या आपकों पता है स्वतंत्र भारत के प्रथम राष्ट्रपति कौन थे? शायद नहीं, तो इस लेख में इनके बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं.

भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र हैं. यहां पर हर पांच साल में एक नए राष्ट्रपति का चुनाव होता है, जिसे निर्वाचन मंडल द्वारा किया जाता है.

राष्ट्रपति को देश का पहला नागरिक बोला जाता है. यह पद देश की सर्वोच्च संवैधानिक पद हैं. इसके अलावा भारत के राष्ट्रपति राज्य का प्रमुख और भारतीय सशस्त्र बलों का सर्वोच्च कमांडर भी होता है.

भारतीय संविधान के अनुच्छेद 52 में भारत के राष्ट्रपति के बारे में बताया गया है कि भारत का एक राष्ट्रपति होगा.

अनुच्छेद 53 में राष्ट्रपति के बारे में बताया गया है कि संघ की सभी कार्यकारी शक्तियां उसके द्वारा या तो सीधे या अपने अधीनस्थ अधिकारियों के माध्यम से निष्पादन किया जा सकता है.

ऐसी कई चीज़े हैं जिसे केवल भारत के राष्ट्रपति के अंतर्गत आती हैं. जैसे कि भारत में कोई भी कानून लागू करने के लिए राष्ट्रपति का हस्ताक्षर होना अनिवार्य होता है. इसके बिना आप कोई भी कानून लागू नहीं कर सकते हैं.

यह सब बातें आपको राष्ट्रपति पद के बारे में थोड़ी जानकारी दे रही हैं लेकिन यहां हम भारत के प्रथम राष्ट्रपति कौन थे (First President of India in Hindi) के बारे में जानने वाले है.

भारत के प्रथम राष्ट्रपति कौन थे? (Bharat Ke Pratham Rastrapati)

भारत के प्रथम राष्ट्रपति कौन थे

डॉ राजेंद्र प्रसाद भारत के प्रथम राष्ट्रपति बने थे, जो एक महान भारतीय स्वतंत्रता सेनानी होने के साथ – साथ भारतीय स्वाधीनता आंदोलन के प्रमुख नेता और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रमुख अध्यक्ष भी थे.

उनका जन्म 3 दिसम्बर 1884 में बिहार के एक छोटे से गांव जीरादेई में हुआ था. इनके पिता का नाम महादेव सहाय था. डॉ राजेंद्र प्रसाद की प्रारंभिक शिक्षा उन्हीं के गांव जीरादेई में हुई थी.

डॉ राजेंद्र प्रसाद के राष्ट्रपति कार्यालय 26 जनवरी 1950 से 14 मई 1962 तक रहा था. उन्होंने राष्ट्रपति के पद संभालने से पहले, 1946 में भारत के पहले मंत्रिमंडल और 1947 में कृषि और खाद्य मंत्री के पद भी निभा चुके थे.

उन्हें प्यार से लोग “राजेन्द्र बाबू” कह कर पुकारते थे. देश के प्रति उनके योगदान को देखते हुए उन्हें सन 1962 में भारत रत्न से सम्मानित किया था.

जब भी भारतीय संविधान के निर्माण की जिक्र होता है तो डॉ राजेंद्र प्रसाद को जरूर याद किया जाता है क्योंकि उन्होंने इसके निर्माण में अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया था.

डॉ राजेंद्र प्रसाद अपनी ऑटोबायोग्राफी के अलावा भी कई महत्वपूर्ण किताबें लिखी थीं, इनमे “बापू के कदमों में बाबू”, “सत्याग्रह ऐट चम्पारण”, “इण्डिया डिवाइडेड”, “भारतीय संस्कृति, “गांधी जी की देन” और “खादी का अर्थशास्त्र” आदि शामिल हैं.

भारत के प्रथम राष्ट्रपतिडॉ राजेंद्र प्रसाद
जन्म3 दिसंबर 1884, ज़िरादेईक
मृत्यु28 फरवरी 1963, पटना
जीवनसाथीराजवंशी देवी (एम.1896-1962)
पिता का नाममहादेव सहाय
माता का नामकमलेश्वरी देवी
शिक्षाकलकत्ता विश्वविद्यालय
राजनीतिक दलभारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
राष्ट्रपति कार्यकाल26 जनवरी 1950 से 13 मई 1962
पुरस्कारभारत रत्न (1962 में)
के लिए प्रसिद्धभारत के प्रथम राष्ट्रपति

डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद का पूरा नाम क्या है?

डॉ राजेंद्र प्रसाद का पूरा नाम “डॉ राजेंद्र प्रसाद” ही था, जिन्हें लोग प्यार से “राजेन्द्र बाबू “कह कर पुकारा करते थे.

राजेन्द्र प्रसाद का जन्म कहाँ हुआ था?

राजेंद्र प्रसाद का जन्म 3 दिसम्बर 1884 में बिहार के एक छोटे से गांव जीरादेई में हुआ था.

राजेन्द्र प्रसाद की मृत्यु कब हुई?

राजेंद्र प्रसाद की मृत्यु 28 फरवरी, 1963 को 78 वर्ष की आयु में पटना में हुई थी. उन्हें महाप्रयान घाट, पटना (बिहार) में दफनाया गया था. पटना के संग्रहालय में उन्हें राजेंद्र स्मृति में सम्मानित किया जाता है.

राजेंद्र प्रसाद भारत के राष्ट्रपति कब बने?

राजेंद्र प्रसाद को 26 जनवरी 1950 को देश के पहले राष्ट्रपति चुने गए थे और साल 1957 में जब दूसरी बार राष्ट्रपति के चुनाव हुए, उन्हें तब दोबारा राष्ट्रपति बनाया गया था. वे 14 मई 1962 तक राष्ट्रपति के पद पर कार्यरत रहे थे.

डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद का कार्यकाल कितना था?

डॉ राजेंद्र प्रसाद का कार्यकाल राष्ट्रपति के रूप में 26 जनवरी 1950 से 14 मई 1962 तक था.

निष्कर्ष,

भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद थे, जिनका जन्म 3 दिसम्बर 1884 में बिहार के एक छोटे से गांव जीरादेई में हुआ था.

देश के प्रति उनका योगदान अतुल्य था. उन्होंने भारतीय संविधान के निर्माण के साथ – साथ देश की कई छोटी – बड़ी मह्त्वपूर्ण कार्यो में भी अपना योगदान दिया था.

हम उम्मीद करते हैं आपकों भारत के प्रथम राष्ट्रपति कौन थे (Bharat Ke Pratham Rastrapati Kaun The) के बारे में अच्छी तरह जानकारी मिल गई होगी.

भारत के प्रथम राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद से संबंधित यह पोस्ट पसंद आने पर कृपया इसे अपने दोस्तों और अन्य लोगों के साथ शेयर जरूर करें. ताकि वे लोग भी भारत के प्रथम राष्ट्रपति कौन थे के बारे में अच्छी तरह से समझ सकें.

यह भी पढ़ें :

लेख में दी गई जानकारी से आप संतुष्ट हैं?

343 Points
Upvote Downvote

हिंदीकुल द्वारा लिखित

यह आर्टिकल हिंदीकुल एक्सपर्ट टीम के द्वारा पूरी रिसर्च और अधिकृत रेफरेन्स के सहायता से लिखा गया है। हम पूरी कोशिश करते हैं कि लेख में शामिल प्रत्येक जानकारी की सटीकता और व्यापकता उच्च गुणवत्ता की हो। फिर भी इस लेख से संबंधित आपके मन में कोई सवाल या सुझाव हैं तो कृपया हमें नीचे कॉमेंट कर या कांटेक्ट पेज के माध्यम से सूचित जरूर करें.
साथ ही हिंदीकुल से जुड़े रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो जरूर करें 👇

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.