भूगोल कितने प्रकार के होते हैं?

भूगोल की शाखाएँ , Types of Geography in Hindi, भूगोल के प्रकार , Bhugol Ke Prakar

भूगोल (Geography) एक ऐसा विषय है जो अपने आप में बहुत बड़ी है. यदि भूगोल के प्रकार एंव शाखाएँ कि गिनती किया जाए तो अनेकों है लेकिन हमने केवल भूगोल की प्रमुख शाखाएँ और भूगोल कितने प्रकार के होते हैं? के बारे में बतलाया है.

यह एक ऐसा विषय है जिससे पृथ्वी के ऊपरी स्वरुप और उसके प्राकृतिक विभागों जैसे कि देश, दुनिया,महादेश, नगर, नदी , झील,समुद्र,  डमरुमध्य, उपत्यका, अधित्यका, वन, पहाड़, आदि के बारे में पता चलता है.

यहीं वह भूगोल है जिससे आपकों पृथ्वी के अलावा सौरमंडल अथवा पूरे ब्रह्मांड के बारे में पता चलता है. भूगोल कई क्षेत्रों में सहयोग करता है इसलिए इसे Astronomy के अलावा विज्ञान (Science), रियल लाइफ, आदि जगहों पर भी उपयोग में लिया जाता है.

जैसे कि हमने बतलाया है, आज की इस लेख में आपकों भूगोल कितने प्रकार के होते हैं Types of Geography in Hindi और उसकी प्रमुख शाखाएँ कौन सी है? से संबंधित बातों के बारे में जानकारी प्राप्त होने वाला है. इसीलिए यदि आप भूगोल के प्रमुख शाखाएँ और यह कुल कितने प्रकार का होता है के बारे में जानना चाहते हैं तो इस लेख को पूरा पढ़िए.

भूगोल ही एकमात्र ऐसा विषय है जो धरातल के स्थानिक विन्यास को समझने के लिए सभी प्रकृतिक एंव मानवीय विज्ञानों को एक मंच पर लाता है.

आपकों बता दें,

भूगोल में अध्यन की दो मुख्य विधियां होती हैं :

  1. क्रमबद्ध उपागम
  2. प्रादेशिक

भूगोल की तीन प्रमुख शाखाएँ इस प्रकार है :

  1. भौतिक भूगोल
  2. मानव भूगोल
  3. प्रादेशिक भूगोल

भूगोल कितने प्रकार के होते हैं? (Types of Geography in Hindi)

भूगोल कितने प्रकार के होते हैं

भूगोल (Geography) मुख्यतः तीन प्रकार के होते हैं : भौतिक भूगोल, मानव भूगोल और प्रादेशिक भूगोल, जिन्हें भौतिक तथा मानवीय परिघटनाओं के रूप में वर्गीकृत किया गया है. वैसे तो भूगोल की कई शाखाएँ होती हैं लेकिन यह तीन भूगोल की प्रमुख शाखाएँ मानी जाती है.

1. भौतिक भूगोल (Physical Geography)

भौतिक भूगोल वह शाखा है जिसमें भौतिक परिघटनाओं की व्याख्या व अध्यन किया जाता है. भूगोल की यह शाखा मौसम विज्ञान, भूगर्भशास्त्र, रसायन शास्त्र, जंतु विज्ञान, आदि चीजों से जुड़ा हुआ है.

भौतिक भूगोल की कई उपशाखाएँ हैं (Types of Physical Geography in Hindi)

  1. खगोलीय भूगोल
  2. जलवायु विज्ञान
  3. भू आकृति विज्ञान
  4. जैव विज्ञान
  5. समुद्र विज्ञान
  6. मृदा विज्ञान

2. मानव भूगोल (Human Geography)

मानव भूगोल वह शाखा है जिसमें पृथ्वी की सतहों और मानव समुदाय के बीच संश्लेषित का अध्ययन किया जाता है. मानवीय जनसंख्या, स्थानिक विश्लेषण और पर्यावरण, यह तीन संघटक है जो मानव भूगोल निकटतम रूप से जुड़ा है.

मानव भूगोल की कई उपशाखाएँ हैं (Types of Human Geography in Hindi) 

  1. मानवविज्ञान भूगोल
  2. आर्थिक भूगोल
  3. सांस्कृतिक भूगोल
  4. राजनीतिक भूगोल
  5. सामाजिक भूगोल
  6. ऐतिहासिक भूगोल
  7. जनसंख्या भूगोल
  8. अधिवास भूगोल

3. प्रादेशिक भूगोल (Regional Geography)

प्रादेशिक भूगोल (regional geography) वह शाखा है जिसमें प्रदेशों का सीमांकन और मानवीय समानताओं के आधार पर सम्पूर्ण धरातल का वर्गीकरण करके उनका अध्ययन किया जाता है.

यह वह विज्ञान है जिसमें पृथ्वी या इसके किसी हिस्से को किसी आधार पर प्रदेशों में विभाजित और उससे संबंधित चीजों का वर्णन किया जाता है.

भूगोल की शाखाएँ ( Branches of Geography in Hindi)

  • भौतिक भूगोल
  • मानव भूगोल
  • प्रादेशिक भूगोल
  • श्रृंखलाबद्ध भूगोल
  • सामाजिक भूगोल
  • सांस्कृतिक भूगोल
  • राजनैतिक भूगोल
  • आर्थिक भूगोल
  • ऐतिहासिक भूगोल
  • जनजाति भूगोल
  • जनशास्त्रीय भूगोल
  • अधिवास भूगोल
  • जंतु भूगोल
  • वनस्पति भूगोल
  • मिट्टी शास्त्र
  • स्थलाकृति
  • जलवायु
  • भू आकृति विज्ञान
  • खगोलीय भूगोल
  • जैव विज्ञान
  • समुद्र विज्ञान
  • मृदा विज्ञान

भूगोल की मुख्य शाखाएँ कितनी हैं?

भूगोल को भौतिक तथा मानवीय परिघटनाओं के रूप में वर्गीकृत किया जाता है इसलिए भूगोल की तीन प्रमुख शाखाएँ है : भौतिक भूगोल, मानव भूगोल और प्रादेशिक भूगोल.

भूगोल की दो शाखाएं बताइए कौन कौन सी है?

भौतिक भूगोल और मानव भूगोल – भूगोल की दो मुख्य शाखाएँ होती हैं.

भूगोल कितने शब्दों से मिलकर बना है?

भूगोल दो शब्दों से मिलकर बना है : भू + गोल, जिसका अर्थ “पृथ्वी गोल” होता है.

क्या भारतीय भूगोल भी भूगोल की शाखाएँ हैं?

हां, भारतीय भूगोल भी भूगोल की शाखाएँ होती हैं. इंडियन ज्योग्राफी में भारत देश की ऊपरी स्वरुप और उसके प्राकृतिक विभागों का अध्ययन किया जाता है.

निष्कर्ष,

जैसे कि आप जान चुके हैं भूगोल मुख्यतः तीन प्रकार का होता है : भौतिक भूगोल, मानव भूगोल और प्रादेशिक भूगोल, जो आर्टिकल (भूगोल कितने प्रकार के होते हैं?) में इससे संबंधित अधिक जानकारी दी गई है.

हम उम्मीद करते हैं आपकों यह आर्टिकल अच्छा लगा होगा और साथ ही इससे कुछ नया सीखने और जानने को मिला होगा. दोस्तो, यदि आर्टिकल पसंद आई है तो कृपया इसे अपने दोस्तों और अन्य छात्रों के साथ शेयर जरूर करें.

इसके अलावा भूगोल कितने प्रकार के होते हैं (Bhugol Kitne Prakar Ke Hote Hai) और इसकी शाखाओं से संबंधित कोई सवाल आपके मन में है तो आप हमें नीचे कमेंट कर पूछ सकते हैं. हम पूरी कोशिश करते हैं आपके पूछे गए इस आर्टिकल से संबंधित सभी सवालों का जवाब जल्द से जल्द कर दिया जाए.

इसे भी पढ़ें:

लेख में दी गई जानकारी से आप संतुष्ट हैं?

358 Points
Upvote Downvote

हिंदीकुल द्वारा लिखित

यह आर्टिकल हिंदीकुल एक्सपर्ट टीम के द्वारा पूरी रिसर्च और अधिकृत रेफरेन्स के सहायता से लिखा गया है। हम पूरी कोशिश करते हैं कि लेख में शामिल प्रत्येक जानकारी की सटीकता और व्यापकता उच्च गुणवत्ता की हो। फिर भी इस लेख से संबंधित आपके मन में कोई सवाल या सुझाव हैं तो कृपया हमें नीचे कॉमेंट कर या कांटेक्ट पेज के माध्यम से सूचित जरूर करें.
साथ ही हिंदीकुल से जुड़े रहने के लिए हमें सोशल मीडिया पर फॉलो जरूर करें 👇

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.